Breaking :
||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस
Saturday, June 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने शिबू सोरेन पर साधा निशाना, कहा- उनके परिवार की संपत्ति की जांच के मामले में दिल्ली हाई कोर्ट का फैसला स्वागत योग्य

रांची : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने मंगलवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन और उनके पिता शिबू सोरेन पर निशाना साधा। उन्होंने मंगलवार को पार्टी के प्रदेशन कार्यालय में संवाददाता सम्मेलन में कहा कि राज्य में हेमंत सोरेन के नेतृत्व वाली सत्तारूढ़ झामुमो-कांग्रेस-राजद सरकार भ्रष्टाचार में लिप्त है।

मरांडी ने लोकपाल द्वारा शिबू सोरेन परिवार की चल-अचल संपत्ति की जांच के संबंध में दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि लोकपाल का गठन भ्रष्टाचार, लूट को जड़ से समाप्त करने के लिए हुआ है। भ्रष्टाचार लोकतंत्र के लिए खतरा है। उन्होंने कहा कि वर्ष 2020 में सांसद निशिकांत दुबे ने शिबू सोरेन की अर्जित सम्पत्ति की जांच करने के लिए लोकपाल में आवेदन दिया था।

मरांडी ने कहा कि शिबू सोरेन परिवार बोलता है कि लोकपाल का मामला पुराना है। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि क्या कोई चोर पांच दस साल बाद पकड़ा जायेगा तो क्या उसपर मुकदमा दर्ज नहीं होगा? साथ ही कहा कि यह मामला लोकपाल का है। सीबीआई जांच होगी। सारे मामले चाहे वह सेल कंपनी के माध्यम से पैसा कमाने का हो या फिर अमित अग्रवाल के साथ सोरेन परिवार का व्यावसायिक संबंध हो, सभी उजागर होंगे।

उन्होंने कहा कि दिल्ली उच्च न्यायालय का फैसला भले थोड़ा विलंब से आया है लेकिन अच्छा फैसला आया है। आगे कोई भी भ्रष्टाचार को छुपाने का दुस्साहस नहीं करेगा। उन्होंने कहा कि ये नई परंपरा की शुरुआत करना चाहते हैं। मुकदमा को लटकाने और भटकाने की कोशिश करते हैं लेकिन नतीजा तो भुगतना ही पड़ेगा। धारा 144 मामले में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर दर्ज हो मुकदमा।

BJP Jharkhand News Today