Breaking :
||भीषण गर्मी की चपेट में झारखंड, सूरज उगल रहा आग, विशेषज्ञों ने बताये बचाव के उपाय||लातेहार: मनिका स्थित कल्याण गुरुकुल में युवती की संदिग्ध मौत, जांच में जुटी पुलिस||रांची के रातू रोड इलाके से गुजर रहे हैं तो हो जायें सावधान! बाइक सवार बदमाशों की है आप पर नजर||गढ़वा में सैकड़ों चमगादड़ों की दर्दनाक मौत, भीषण गर्मी से मौत की आशंका||लातेहार: अमझरिया घाटी की खाई में गिरा ट्रक, चालक और खलासी की मौत||मैक्लुस्कीगंज में ऑप्टिकल फाइबर बिछाने के काम में लगे कंटेनर में नक्सलियों ने लगायी आग, जिंदा जला मजदूर||फल खरीदने गया पति, प्रेमी के साथ भाग गयी पत्नी||पलामू में 47.5 डिग्री पहुंचा पारा, मई महीने का रिकॉर्ड टूटा, दशक का सर्वाधिक अधिकतम तापमान||DJ सैंडी मर्डर केस : हत्या और मारपीट का मामला दर्ज, बार संचालक व बाउंसर समेत 14 गिरफ्तार||झारखंड की चर्चा खूबसूरत पहाड़ों की वजह से नहीं बल्कि नोटों के पहाड़ की वजह से हो रही : मोदी
Wednesday, May 29, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने हेमंत सरकार पर साधा निशाना, कहा- भारत बंद के दौरान छात्रों पर हुए मुकदमे उठाने का नाटक कर रहे मुख्यमंत्री

रांची : भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष बाबूलाल मरांडी ने गुरुवार को कहा कि मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन भारत बंद के दौरान छात्रों पर हुए मुकदमे उठाने का नाटक कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को मामले को उठाने के साथ-साथ अपने चार साल के कार्यकाल के दौरान आदिवासियों और दलितों पर अत्याचार करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई भी करनी चाहिए थी।

मरांडी ने कहा कि ईडी की जांच में फंसे मुख्यमंत्री हताश, परेशान हैं। पिछले चार वर्षों से आदिवासी, दलित समाज पर कहर बरसाने वाले, उनकी जमीन को लूटने-लुटवाने वाले मुख्यमंत्री मुकदमा उठाने की घोषणा कर रहे हैं। इसका स्वागत है लेकिन मुख्यमंत्री बतायें कि आदिवासी दारोगा संध्या टोपनो को गोतस्करों के द्वारा ट्रक से कुचल कर मारने वाले पर क्या कार्रवाई हुई। उनके विधायक प्रतिनिधि पर रूपा तिर्की के परिजनों के द्वारा लगाये गये आरोप पर क्या कार्रवाई हुई।

बाबूलाल मरांडी ने कहा कि आदिवासी, दलित बच्चियों के साथ हुए हजारों दुष्कर्मों पर क्या कार्रवाई हुई। पहाड़िया बेटी को टुकड़ों में काटने वाले पर क्या कार्रवाई हुई। आदिवासी बेटी की दुष्कर्म व हत्या कर पेड़ पर लटकाने वाले पर क्या कार्रवाई हुई। मरांडी ने कहा कि हेमंत सरकार बनते ही चाईबासा में सात आदिवासियों की निर्मम हत्या हुई, अमर शहीद सिदो कान्हु के वंशज रामेश्वर मुर्मू की हत्या हुई। सुभाष मुंडा जैसे अनेक होनहार आदिवासी युवाओं की हत्या हेमंत सरकार की देन है।

उन्होंने कहा कि यह सरकार आदिवासी, दलित को सुरक्षा देने में पूरी तरह विफल रही है। लव जिहाद के मामलों में आदिवासी समाज की बेटियों पर धर्मांतरण के दबाव के मामले उजागर हो रहे। फिर भी सरकार तुष्टीकरण और वोट बैंक की राजनीति में मौन साधे बैठी है। जनजाति समाज अब हेमंत सरकार की नीति और नीयत को समझ चुका है।

Babulal Marandi Targeted Hemant Government