Breaking :
||लातेहार जिले के विकास के लिए किसी के पास कोई रोडमैप नहीं, अधिकारी भी नहीं रहना चाहते यहां: सुदेश महतो||झारखंड में अधिकारियों के तबादले में चुनाव आयोग के निर्देशों का नहीं हुआ पालन, मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने लिखा पत्र||पलामू: बाइक सवार अपराधियों ने व्यवसायी को मारी गोली, पत्नी ने गोतिया परिवार पर लगाया आरोप||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप
Sunday, February 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

राज्यपाल से सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे विधानसभा से निलंबित बीजेपी विधायक

रांची: झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन मंगलवार को बीजेपी के दो विधायकों भानु प्रताप शाही और बिरंची नारायण को विधानसभा अध्यक्ष रबींद्र नाथ महतो ने पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया। साथ ही जेपी पटेल को सदन से बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद सभी बीजेपी विधायक सदन से बाहर चले गये और धरने पर बैठ गये। बीजेपी विधायक आज राज्यपाल से मिलेंगे और राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे।

नेता प्रतिपक्ष अमर बावरी ने कहा कि विधायक स्थगन और कार्य सूचना की मांग कर रहे थे। अगर उन्होंने खबर पढ़ ली होती तो क्या होता लेकिन सरकार ऐसा न करके तानाशाही रवैया अपना रही है। हेमंत सरकार पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है। उन्होंने कहा कि बीजेपी विधायक अपना हक मांग रहे थे और स्पीकर ने उन्हें बाहर कर दिया, जिसके चलते बीजेपी ने सदन का बहिष्कार किया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा, स्पीकर को विधायकों का निलंबन वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर झारखंड के युवाओं के लिए आवाज उठाना गुनाह है तो हम ये गुनाह बार-बार करेंगे। इन युवाओं के लिए भाजपा विधायक हजार बार निलंबित होने को तैयार हैं।

Jharkhand BJP MLAs suspended Assembly