Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

राज्यपाल से सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे विधानसभा से निलंबित बीजेपी विधायक

रांची: झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के तीसरे दिन मंगलवार को बीजेपी के दो विधायकों भानु प्रताप शाही और बिरंची नारायण को विधानसभा अध्यक्ष रबींद्र नाथ महतो ने पूरे सत्र के लिए निलंबित कर दिया। साथ ही जेपी पटेल को सदन से बाहर निकाल दिया गया। इसके बाद सभी बीजेपी विधायक सदन से बाहर चले गये और धरने पर बैठ गये। बीजेपी विधायक आज राज्यपाल से मिलेंगे और राज्य सरकार को बर्खास्त करने की मांग करेंगे।

नेता प्रतिपक्ष अमर बावरी ने कहा कि विधायक स्थगन और कार्य सूचना की मांग कर रहे थे। अगर उन्होंने खबर पढ़ ली होती तो क्या होता लेकिन सरकार ऐसा न करके तानाशाही रवैया अपना रही है। हेमंत सरकार पूरी तरह से अलोकतांत्रिक है। उन्होंने कहा कि बीजेपी विधायक अपना हक मांग रहे थे और स्पीकर ने उन्हें बाहर कर दिया, जिसके चलते बीजेपी ने सदन का बहिष्कार किया। नेता प्रतिपक्ष ने कहा, स्पीकर को विधायकों का निलंबन वापस लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर झारखंड के युवाओं के लिए आवाज उठाना गुनाह है तो हम ये गुनाह बार-बार करेंगे। इन युवाओं के लिए भाजपा विधायक हजार बार निलंबित होने को तैयार हैं।

Jharkhand BJP MLAs suspended Assembly