Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Friday, June 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

विधानसभा शीतकालीन सत्र: धीरज साहू के ठिकानों से बरामद कैश को लेकर भाजपा ने सदन के बाहर किया जमकर हंगामा

रांची : झारखंड विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन शुक्रवार को सदन की कार्यवाही शुरू होने से पहले ही कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य धीरज साहू से जुड़ी कंपनी के ठिकानों पर आयकर विभाग की छापेमारी के मामला गुंजा। धीरज साहू के ठिकानों से 500 करोड़ रुपये की बरामदगी को लेकर विपक्ष (बीजेपी) ने सदन के बाहर जमकर हंगामा किया।

बीजेपी विधायक पत्थर चोरी, कोयला चोरी, बालू चोरी या ट्रांसफर पोस्टिंग का मुद्दा भी उठा रहे थे। इस दौरान बीजेपी विधायक लगातार सीबीआई जांच की मांग कर रहे थे। हंगामे के दौरान अनंत ओझा, बिरंची नारायण, नीरा यादव, राज सिन्हा, जयप्रकाश भाई पटेल, समरी लाल और ढुल्लू महतो मौजूद थे। आजसू विधायक लंबोदर महतो भी सदन के बाहर धरने पर बैठे हैं और बेरमो को जिला बनाने की मांग कर रहे हैं।

बीजेपी विधायक भानु प्रताप शाही ने कहा कि पार्टी धीरज साहू और युवाओं के मुद्दों को सदन के अंदर जरूर उठायेगी।

धीरज साहू प्रकरण को लेकर सदन के बाहर भाजपा के विरोध प्रदर्शन पर मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने प्रतिक्रिया दी। उन्होंने कहा कि इनकम टैक्स विभाग ने अब तक मामले में कुछ भी स्पष्ट नहीं कहा है जबकि भाजपा धीरज साहू की गिरफ्तारी की मांग कर रही है।

ठाकुर ने कहा कि इनकम टैक्स, ईडी, सीबीआई जैसी केंद्रीय एजेंसियां तो केंद्र की भाजपा सरकार के नियंत्रण में है। ऐसा लग रहा है कि अब तो भाजपा को इन एजेंसियों पर भी भरोसा नहीं है। इसका एक ही रास्ता है। भाजपा दिल्ली से लेकर रांची तक इन केंद्रीय एजेंसियों के डायरेक्टर और अधिकारियों के पद पर अपने नेताओं को नियुक्त कर दे।

इरफान अंसारी ने कहा कि पूरी कांग्रेस पार्टी धीरज साहू के साथ खड़ी है। वह गरीबों के मसीहा हैं। आजादी से पहले भी उनका कारोबार करोड़ों का था। बीजेपी बेवजह हंगामा करती है।

दीपिका पांडे सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार 20 हजार करोड़ रुपये की लागत से बने संसद भवन को सुरक्षा नहीं दे पा रही है। यह बड़ा मुद्दा है लेकिन इसे छोड़कर बीजेपी बेवजह हंगामा खड़ा कर रही है।

कांग्रेस विधायक अनूप सिंह ने धीरज साहू प्रकरण को लेकर कहा कि उनका धंधा वर्षों से चल रहा है। उनका कारोबार करोड़ों में है। बीजेपी का आरोप कितना जायज है यह बात जनता जानती है।

Jharkhand assembly winter session BJP