Breaking :
||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत||बालूमाथ: शार्ट सर्किट से हाइवा वाहन में लगी आग, जलकर राख||बालूमाथ: महिला का अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ठगे सात लाख रुपये, गिरफ्तार||बालूमाथ: सरस्वती पूजा को लेकर निकाली गयी शोभायात्रा पर मधुमक्खियों का हमला, मची अफरा-तफरी||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा पांच हाइवा जब्त, तीन गिरफ्तार||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित||आईईडी ब्लास्ट में फिर एक जवान घायल, लाया गया रांची

दिल्ली हाईकोर्ट से शिबू सोरेन को बड़ी राहत, आय से अधिक संपत्ति मामले में लोकपाल की कार्यवाही पर रोक

दिल्ली हाईकोर्ट ने आय से अधिक संपत्ति मामले में झारखंड मुक्ति मोर्चा के सुप्रीमो और राज्यसभा सदस्य शिबू सोरेन के खिलाफ शुरू की गई लोकपाल कार्यवाही पर रोक लगा दी है।

लोकपाल ने भाजपा सांसद निशिकांत दुबे की शिकायत पर कार्यवाही शुरू की थी। लोकपाल की कार्यवाही के खिलाफ शिबू सोरेन ने याचिका दायर की थी। दिल्ली हाईकोर्ट ने कार्यवाही पर रोक लगाते हुए नोटिस जारी किया है। अगली सुनवाई 12 दिसंबर को होगी।

आपको बता दें कि झारखंड के गोड्डा से बीजेपी सांसद निशिकांत दुबे की शिकायत पर लोकपाल ने कार्यवाही शुरू की। लोकपाल में 5 अगस्त 2020 को झामुमो अध्यक्ष शिबू सोरेन और उनके परिवार के खिलाफ कथित तौर पर अवैध तरीके से आय से अधिक संपत्ति हासिल करने के लिए शिकायत दर्ज की गई थी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

सांसद निशिकांत दुबे की शिकायत में कहा गया है कि शिबू सोरेन और उनके परिवार के सदस्यों ने कोयला मंत्री पद पर रहते हुए अपार संपत्ति अर्जित की थी। यह संपत्ति झारखंड समेत देश के अन्य राज्यों में है। करीब तीन दर्जन अचल संपत्तियों की सूची लोकपाल को सौंपी गई।

भाजपा सांसद ने आरोप लगाया कि शिबू सोरेन के परिवार ने अपनी शक्तियों का गलत इस्तेमाल कर कई व्यावसायिक और आवासीय संपत्तियां हासिल की हैं। शिबू सोरेन पर सरकारी खजाने को नुकसान पहुंचाने का आरोप है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने इस मामले में शिबू सोरेन को बड़ी राहत देते हुए लोकपाल की कार्यवाही पर रोक लगा दी है। हाईकोर्ट ने नोटिस जारी किया है। अब इस मामले की अगली सुनवाई 12 दिसंबर को होगी।