Breaking :
||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान||लातेहार: बालूमाथ में फिर एक विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी

लातेहार: बुढा पहाड़ इलाके में नक्सलियों के खिलाफ बड़ा अभियान, जंगल में लगातार हो रहे विस्फोट से ग्रामीणों में दहशत

लातेहार : झारखंड-छत्तीसगढ़ सीमा पर स्थित बुढ़ा पहाड़ इलाके में सुरक्षाबल नक्सलियों के खिलाफ बड़ा अभियान चला रहे हैं। इस बीच थलिया व तिसिया के जंगल में लगातार हो रहे विस्फोट से स्थानीय ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। बताया जा रहा है कि बुढ़ा पहाड़ इलाके में आज करीब 35 से 40 विस्फोट हुए हैं।

जिस इलाके में धमाका हुआ वह लातेहार, गढ़वा और छत्तीसगढ़ सीमा का पिनपॉइंट है। घटना के बाद सुरक्षाबलों द्वारा अलर्ट कर सघन अभियान चलाया जा रहा है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बताया जाता है कि बुढ़ा पहाड़ के इलाके में 25 लाख के इनामी माओवादी सौरभ उर्फ ​​मरकस बाबा के नेतृत्व में 40 से 50 की संख्या में नक्सली डेरा डाले हुए हैं। नवीन यादव, रवींद्र गंझू, मृत्युंजय भुइयां, संतू भुइयां जैसे शीर्ष माओवादियों के बुढ़ा पहाड़ के इलाके में पनाह लेने की खबर है।

माओवादियों के खिलाफ अब तक का सबसे बड़ा जांच अभियान 2018 के बाद से बूढ़ा पहाड़ क्षेत्र में शुरू किया गया है। इस अभियान के दौरान बुढापहाड़ से दूर थलिया और तिसिया में विस्फोट की घटना हुई है। इलाके की सुदूरता के कारण यह पता नहीं चल पाया है कि विस्फोट माओवादियों ने किया था या माओवादियों द्वारा लगाए गए बारूदी सुरंगों को सुरक्षा बलों ने नष्ट कर दिया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

बुढ़ा पहाड़ इलाके में नक्सलियों के खिलाफ अभियान का शुक्रवार को दूसरा दिन है। इस ऑपरेशन में बुढ़ा पहाड़ इलाके में सुरक्षा बलों की 40 से ज्यादा कंपनियां तैनात की गई हैं। जिसमें कोबरा, जगुआर असॉल्ट ग्रुप, सीआरपीएफ, जैप, आईआरबी को तैनात किया गया है। सीआरपीएफ जैप और आईआरबी ने इलाके की घेराबंदी कर रही है, जबकि कोबरा और जगुआर माओवादियों के खिलाफ हमले कर रहे हैं।