Breaking :
||पलामू: शहर में बिना अनुमति के जुलूस निकालने पर होगी कार्रवाई, रात 10 बजे के बाद डीजे बजाने पर रोक||लातेहार: मवेशियों से लदा ट्रक दुर्घटनाग्रस्त, ग्रामीणों ने एक तस्कर को पकड़ कर किया पुलिस के हवाले, डाल्टनगंज से खरीद कर रांची के मांस कारोबारी को जा रहे थे पहुंचाने||प्रेमिका से वीडियो कॉल पर बात करते प्रेमी ने दे दी जान||लातेहार: बालूमाथ में फिर एक विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी||लातेहार: बालूमाथ में विवाहिता ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, मायके वालों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी

जंगल में लकड़ी लाने गयी महिलाओं पर मधुमक्खी का हमला, एक की मौत, एक की हालत नाजुक

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के बनालात गांव में जंगल में लकड़ी लाने गयी महिलाओं पर मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। इस हादसे में एक महिला की मौत हो गयी। जबकि एक महिला गंभीर रूप से घायल है।

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

मृतका की पहचान बनालात गांव निवासी नरेश भुइयां की पत्नी मंगरी देवी (40) के रूप में हुई है। जबकि घायल महिला की पहचान संजय भुइयां की पत्नी रेखा देवी (35) के रूप में हुई है। घायल महिला का इलाज बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टर अमरनाथ प्रसाद की देख रेख में किया जा रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार दोनों महिलायें जंगल में लकड़ी लाने गयीं थीं इसी दौरान मधुमक्खियों ने इनपर हमला कर दिया। जिन्हें परिजनों की सहायता से गंभीर हालत में बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया जा रहा था। लेकिन स्वास्थ्य केंद्र पहुंचने से पहले रास्ते में ही मंगरी देवी की मौत हो गयी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्वास्थ्य केंद्र पहुंचने पर डॉक्टर अमरनाथ ने जांच के बाद मंगरी देवी को मृत घोषित कर दिया। जबकि रेखा देवी की हालत खतरे से बाहर बताई जाती है। घटना के बाद मंगरी देवी के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।