Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

यात्रीगण कृपया ध्यान दें! बीडीएम सवारी गाड़ी के परिचालन पर फिर लगी रोक, 29 मई से शुरू होना था परिचालन, अब इस..

पलामू : बरकाकाना से वाराणसी जाने वाली बीडीएम पैसेंजर स्पेशल ट्रेन संख्या 03359/03360 विगत पांच माह से विभिन्न कारणों से बंद है, जबकि रेल उपभोक्ता समिति, पलामू ने 18 मई को घोषित रेल चक्का जाम पर रेल प्रशासन ने डीआरएम मुगलसराय से समिति के शिष्टमंडल को वार्ता में बताया गया था कि 29 मई से इस ट्रेन का परिचालन शुरू किया जायेगा।

अचानक 26 मई को पूर्व मध्य रेलवे के सीपीटीएम की ओर से जारी अधिसूचना में इस ट्रेन के निलंबन आदेश को बढ़ाकर 28 जून कर दिया गया। इसका मुख्य कारण वाराणसी और गूलर में यार्ड रिमॉडलिंग कार्य अधूरा रहने व लोको यार्ड 1 से 3 में कोचों की वाशिंग क्षमता नहीं रहना बताया गया है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

इस अधिसूचना के मैदान में वायरल होते ही रेल प्रशासन की गलत नीतियों को लेकर एक बार फिर कई संगठनों में उबाल आ गया है। शिक्षाविद व समाजसेवी अरविंद कुमार सिंह, झामुमो प्रखंड अध्यक्ष अशोक कुमार सिंह व सचिव पवन कुमार ने कहा कि सांसद इस गंभीर समस्या पर तत्काल पहल करें।

यदि रेल कार्य के कारण परिचालन में कोई समस्या आ रही हो तो अन्य ट्रेनों की भांति इस ट्रेन को मुगलसराय या काशी स्टेशन से शॉर्ट टर्मिनेशन के तहत अविलंब संचालित किया जाये। उन्होंने कहा कि यदि दस दिनों के भीतर रेल प्रशासन को कोई विकल्प नहीं मिला तो क्षेत्र के रेल उपयोगकर्ता हिंसक आंदोलन करने को विवश होंगे, जिसके लिए रेल प्रशासन जिम्मेदार होगा।

उन्होंने कहा कि हाल के दिनों में शादी-विवाह (लगन) के मौके पर रेल यात्रियों की संख्या में भारी इजाफा हुआ है, जिससे गरीब रेल यात्रियों के लिए आराम से और सुरक्षित यात्रा करना मुश्किल हो गया है। उन्होंने कहा कि दिसंबर से लेकर अब तक चौथी बार रेलवे की ओर से इस ट्रेन का परिचालन स्थगित करने का आदेश जारी किया गया है, जो यात्रियों के लिए असहनीय हो गया है। इस रेलखंड के कई स्टेशनों से कोयल-सोन नदी की सीमा से सटे दर्जनों स्थानों पर बड़ी संख्या में रेल यात्रियों का आना-जाना लगा रहता है।