Breaking :
||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश||पलामू: हार्डकोर इनामी माओवादी नीतेश के दस्ते का सक्रिय सदस्य गिरफ्तार||लातेहार: 65 हेली ड्रॉपिंग बूथ के लिए शुभकामनायें लेकर मतदान कर्मी रवाना
Monday, May 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: जूतों की माला पहनाकर गांव में घुमाने के मामले में ग्राम प्रधान समेत दो आरोपियों की जमानत याचिका खारिज

लातेहार : जिले के हेरहंज थाना क्षेत्र के केडू गांव में 10 सितंबर को घटी एक चर्चित अमानवीय घटना में ग्राम प्रधान के नेतृत्व में अनुसूचित जाति के एक सदस्य को अपमानित किया गया था। इस मामले में लातेहार के अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश प्रथम सह विशेष न्यायाधीश एससी-एसटी कोर्ट संजीव कुमार दास की अदालत ने जूतों की माला पहनाकर गांव में घुमाने के चर्चित मामले में दो आरोपियों ग्राम प्रधान नासिर अंसारी और बाबर अंसारी की जमानत याचिका खारिज कर दी है।

विशेष लोक अभियोजक पंकज कुमार और पीड़िता के वकील सुनील कुमार ने अदालत में अपना पक्ष रखते हुए कहा कि यह घटना अमानवीय और घृणित है और कमजोर वर्ग के लोगों के अपमान से संबंधित है।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

बता दें कि 10 सितंबर को हेरहंज थाने के केडू गांव निवासी अनुसूचित जाति के एक व्यक्ति को एक मामले की सुनवाई के दौरान ग्राम प्रधान नासिर अंसारी और उसके बेटे बाबर अंसारी के द्वारा बैठक बुलाकर एक मामले की सुनवाई करते हुए जूतों की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाने की सजा सुनायी। ऐलान के अनुसार अन्य ग्रामीणों के साथ मिलकर पीड़ित को जूतों की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाया और जातिसूचक शब्दों का प्रयोग कर अपमानित किया गया था।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार में ग्राम प्रधान की दबंगई, निर्दोष आदिवासी ग्रामीण को जूते-चप्पल की माला पहनाकर गांव में घुमाया, समाज से किया बाहर, दहशत में परिवार

बचाव पक्ष के वकील ने आरोपी को निर्दोष बताया और अदालत से जमानत देने का अनुरोध किया। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद श्री दास की अदालत ने दायर जमानत याचिका खारिज कर दी।

इसे भी पढ़ें :- लातेहार: जूते-चप्पल की माला पहनाकर गांव में घुमाने के मामले में ग्राम प्रधान समेत चार आरोपी गिरफ्तार

मालूम हो कि उक्त मामला उजागर होने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने इसकी कड़ी निंदा की थी। दूसरे दिन आरोपी के विरुद्ध हेरहंज थाना कांड संख्या 44/23 आईपीसी की धारा 143, 341, 342, 323, 504, 506, 499, 500 एवं संशोधित अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम 1989 संशोधित 2015 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गयी थी और ग्राम प्रधान नासिर अंसारी और उसके बेटे बाबर अंसारी और अन्य को जेल भेज दिया गया था। इसके बाद से आरोपी पिछले 55 दिनों से मंडल कारा लातेहार में बंद हैं।

Latehar Latest Court News