Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Sunday, April 14, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडलमनिकालातेहार

लातेहार: मनिका में घर के अंदर सो रहे लोगों को जिंदा जलाने की कोशिश

Manika Latehar Latest News

लातेहार : जिले के मनिका थाना क्षेत्र के रांकीकला पंचायत के मोहनटांड़ में शुक्रवार की रात अपराधियों ने दर्जन भर लोगों को घर के अंदर सोये हुए अवस्था में जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। बताया गया कि इस दौरान अपराधियों ने घर के मेन दरवाजा का कुंडी (सिकड़ी) बंद कर दी थी, ताकि कोई बाहर नहीं निकल सके। मेन दरवाजे पर मकई की सुखी डंठी का प्रयोग करके आग लगायी गयी, फिर घर के पिछवाड़े में एक काले रंग का पेंट में ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगाकर अपराधी चलते बने।

भुक्तभोगी नन्हकू यादव के पुत्र ने इस सिलसिले में मनिका थाना पुलिस को सूचना दी है। पुलिस छानबीन करने में जुट गयी है। ननकू यादव ने शनिवार को बताया कि शुक्रवार रात में घर के अंदर 12 सदस्य सोये हुए थे। मेरे बड़े पुत्र मुनेश्वर यादव के चार बच्चे तथा उसकी पत्नी, छोटे पुत्र बुद्धू यादव के एक बच्चे और दोनों पति पत्नी के अलावा हमलोग पति-पत्नी अपने कमरे में सोये थे। इसी दौरान अपराधियों के द्वारा आग लगाकर जिंदा जलाने का प्रयास किया गया।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

ननकु यादव के अनुसार उमेश यादव के टूटे मकान में रखे मकई की सुखी डंठी लायी गयी और उसमें ज्वलनशील पदार्थ डालकर घर को आग के हवाले करने का प्रयास किया गया। बड़े पुत्र की नींद नहीं खुलती तो सारे लोग सोये अवस्था में जिंदा जल जाते।

मुनेश्वर ने बताया कि आग की तपिश महसूस होने के बाद वह उठा और आंगन में पहुंचा तथा उछलकर छप्पर पर चढ़ गया और हल्ला मचाया। आवाज़ सुनकर लोग घर की और दौड़ पड़े। पानी से आग बुझाने के बाद कुंडी खोलकर सभी परिजनों को बाहर सुरक्षित निकाला। उसने बताया कि इससे पहले 2011 में इसी घर को दिन में आग लगाकर जला दिया गया था। 13 साल के बाद फिर रात्रि में जिंदा जलाने का प्रयास किया गया। उन्होंने बताया कि पिताजी उस समय घर से बाहर भैंस चराने गये थे। आग के कारण दर्जनभर लोग तथा दो दर्जन मवेशी जिंदा जलकर मर जाते।

चार घरों में आग लगने की खबर पाकर मनिका सीओ संतोष शुक्ला के निर्देश पर राजस्व कर्मचारी वासुदेव महतो क्षतिपूर्ति का आंकलन करने भुक्तभोगियों के घर पहुंचे। मौके पर मुखिया प्रतिनिधि मथुरा उरांव, वार्ड पार्षद प्रतिनिधि अजय बैठा समेत कई लोगों ने जले हुए मकान की स्थिति को देखा।

राजस्व उप निरीक्षक वासुदेव मेहता ने बताया कि राजेश उरांव, संगीता देवी, नगीना उरांव तथा बुधन उरांव का जले हुए घर का आकलन करने पहुंचे हैं। जले हुए सामान की लिखित आवेदन तथा बैंक अकाउंट का छाया प्रति, घर के मुखिया का आधार कार्ड, पारिवारिक सदस्यों की सूची तथा जल चुके सामान के बारे में जानकारी मुखिया के हस्ताक्षर के बाद अंचलाधिकारी को देने का निर्देश दिया है।

Manika Latehar Latest News