Breaking :
||धनबाद: हजारा अस्पताल में लगी भीषण आग, दम घुटने से डॉक्टर दंपती समेत 5 की मौत||बालूमाथ: शार्ट सर्किट से हाइवा वाहन में लगी आग, जलकर राख||बालूमाथ: महिला का अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी देकर ठगे सात लाख रुपये, गिरफ्तार||बालूमाथ: सरस्वती पूजा को लेकर निकाली गयी शोभायात्रा पर मधुमक्खियों का हमला, मची अफरा-तफरी||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा पांच हाइवा जब्त, तीन गिरफ्तार||लातेहार: अब मनिका के डुमरी में दिखा आदमखोर तेंदुआ, गांव में मचा कोहराम, घर में दुबके लोग||लातेहार: किडजी प्री स्कूल में “विद्यारंभ संस्कार” का आयोजन, अभिभावक आमंत्रित||रांची: 10 लाख का इनामी PLFI सब जोनल कमांडर तिलकेश्वर गोप गिरफ्तार||राष्ट्रपति गणतंत्र दिवस पर झारखंड पुलिस के 22 अधिकारियों और कर्मचारियों को करेंगे सम्मानित||आईईडी ब्लास्ट में फिर एक जवान घायल, लाया गया रांची

लातेहार: तीसरी रेल लाइन के निर्माण में लगी कंपनी की साइट पर हमला, चार कर्मी घायल

चंदवा में उग्रवादी हमला

जेपीसी उग्रवादी संगठन ने ली घटना की जिम्मेवारी

लातेहार : जिले के चंदवा थाना क्षेत्र के माल्हन केंदुआटांड में थर्ड रेल लाइन निर्माण कार्य में लगी केईसी कम्पनी की साइट पर रविवार की देर जेपीसी (झारखंड प्रस्तुति कमिटी) के उग्रवादियों ने हमला कर दिया। इस दौरान उग्रवादियों ने कार्य में लगे कंपनी के कर्मियों को बंधक बनाकर मारपीट की। इस मारपीट की घटना में चार कर्मी घायल हो गये हैं।

क्षतिग्रस्त कैंपर वाहन

लातेहार की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

प्राप्त जानकारी के अनुसार 15-20 की संख्या में आये उग्रवादियों ने कंपनी की साइट पर जमकर उत्पात मचाया। इस दौरान उग्रवादियों ने कार्य में लगे कंपनी के करीब दो दर्जन कर्मियों को कब्जे में लेकर जंगल में ले गये और करीब आधे घंटे तक बंधक बना कर रखा। इस दौरान चार कर्मियों के साथ मारपीट की। जिससे वे गंभीर रूप से घायल हो गये। उग्रवादियों ने साइट पर खड़े कैंपर वाहन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

जानकारी देता सुरक्षा प्रहरी

घायलों में छोटन गंझू, संजय महतो, विकास यादव व सुरक्षा प्रहरी मनीष ठाकुर शामिल हैं। घटना के बाद चारो कर्मियों को चंदवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया जहां उनका प्राथमिक उपचार किया गया।

घायल सुरक्षा प्रहरी मनीष ठाकुर ने बताया कि 15-20 की संख्या में आये हलावारों ने कंपनी के कर्मियों को बन्दूक की नोक पर बंधक बनाया और जंगल की ओर ले गये। इस दौरान हमलावर जीएम और मैनेजर का नंबर मांग रहे थे। हमलोगों ने बताया कि हमसभी मजदूर हैं किसी का नंबर मालूम नहीं है। इसके बाद हमलोगों के साथ मारपीट की गयी और काम बंद रखने की चेतावनी दी गयी। इसी दौरान हमलावरों ने बताया कि जबतक जेपीसी उग्रवादी संगठन से कंपनी की बात नहीं होती है काम बंद रहेगा। ,

चोट दिखाता सुरक्षा प्रहरी

इधर, घटना की जानकारी मिलते ही चंदवा थाना पुलिस मौके पर पहुँची और कर्मियों से घटना की जानकारी ली। पुलिस उग्रवादियों की धर पकड़ के लिए इलाके की घेराबंदी कर छापेमारी अभियान चला रही है।

चंदवा में उग्रवादी हमला