Breaking :
||झारखंड एकेडमिक काउंसिल कल जारी करेगा मैट्रिक और इंटर का रिजल्ट||लातेहार: चुनाव प्रशिक्षण में बिना सूचना के अनुपस्थित रहे SBI सहायक पर FIR दर्ज||ED ने जमीन घोटाला मामले में आरोपियों के पास से बरामद किये 1 करोड़ 25 लाख रुपये||झारखंड में हीट वेब को लेकर इन जिलों में येलो अलर्ट जारी, पारा 43 डिग्री के पार||सतबरवा सड़क हादसे में मारे गये दोनों युवकों की हुई पहचान, यात्री बस की चपेट में आने से हुई थी मौत||झारखंड: रामनवमी जुलूस रोके जाने से लोगों में आक्रोश, आगजनी, पुलिस की गाड़ियों में तोड़फोड़, लाठीचार्ज||लातेहार में भीषण सड़क हादसा, दो बाइकों की टक्कर में तीन युवकों की मौत, महिला समेत चार घायल, दो की हालत नाजुक||बड़ी खबर: 25 लाख के इनामी समेत 29 नक्सली ढेर, तीन जवान घायल||पलामू: महुआ चुनकर घर जा रही नाबालिग से भाजपा मंडल अध्यक्ष ने किया दुष्कर्म, आरोपी की तलाश में जुटी पुलिस||झामुमो केंद्रीय समिति सदस्य नज़रुल इस्लाम ने मोदी को जमीन में 400 फीट नीचे गाड़ने की दी धमकी, भाजपा प्रवक्ता ने कहा- इंडी गठबंधन के नेता पीएम मोदी के खिलाफ बड़ी घटना की रच रहे साजिश
Saturday, April 20, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

माओवादियों के नाम पर लेवी वसूलने आये तीन बदमाश पकड़ाये

रांची : भाकपा-माओवादी संगठन के नाम पर लेवी वसूली करने आए तीन अपराधियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। एसपी कौशल किशोर को मिली गुप्त सूचना पर बुंडू डीएसपी अजय कुमार के नेतृत्व में कार्रवाई की गई। इसमें दशमफॉल थाना क्षेत्र के आड़ीडीह में लेवी वसूलने आए तीन अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्तार अपराधियों में सुरेश महतो, सुखराम मुंडा और गौरव मुंडा शामिल हैं। इनके पास से एक पिस्तौल, दो जिंदा गोलियां और भाकपा-माओवादी का एक पोस्टर बरामद किया गया है।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

एसएसपी को गुप्त सूचना मिली थी कि किताबेड़ा गांव में ठेकेदार पुल का निर्माण करवा रहा है। कुछ अपराधी उस ठेकेदार से लेवी लेने जा रहे हैं। जिसके बाद बुंडू डीएसपी अजय कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम ने कार्रवाई करते हुए तीनों को गिरफ्तार कर लिया।

बता दें कि गिरफ्तार हुए लोगों का पूर्व में माओवादी राममोहन मुंडा के सहयोगी के रूप में काम कर चुके हैं, और गिरफ्तार सुरेश महतो पीएलएफआई उग्रवादी लाका पहन के साथ भी संबंध रहा है.

आपको बता दें कि गिरफ्तार किए गए लोग पूर्व माओवादी राममोहन मुंडा के सहयोगी के तौर पर काम कर चुके हैं और गिरफ्तार सुरेश महतो के पीएलएफआई उग्रवादी लाका पाहन से भी संबंध थे।