Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत||जेठानी ने देवरानी पर लगाये गंभीर आरोप, कहा- कल्पना सोरेन के इशारे पर मेरी दोनों बेटियों को मारने की थी कोशिश||गढ़वा: JJMP जोनल कमांडर के नाम पर पूर्व विधायक सत्येंद्र नाथ तिवारी को धमकी||छत्तीसगढ़ में पुलिस के साथ मुठभेड़ में फिर मारे गये सात नक्सली
Saturday, May 25, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

पथ निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता के खिलाफ PE दर्ज करने के प्रस्ताव को मुख्यमंत्री ने दी मंजूरी

रांची : मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टॉलरेंस पॉलिसी पर अमल करते हुए भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर लगातार एक्शन में हैं। इसी सिलसिले में उन्होंने रविवार को हजारीबाग पथ निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता अनिल कुमार सिंह के विरुद्ध आयकर विभाग द्वारा आय से अधिक धनार्जन करने से संबंधित जांच प्रतिवेदन के आधार पर पीई दर्ज करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

यह है मामला

आयकर विभाग ने हजारीबाग पथ निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता अनिल कुमार सिंह के आवास पर 22 नवंबर, 2022 को की गयी तलाशी के दौरान कुल 406.28 लाख रुपये की चल-अचल संपत्ति मिली थी। इसमें 17.13 लाख रुपये नकद, 170.15 लाख रुपये के गहने एवं बहुमूल्य धातु, 64 लाख रुपये बैंक खातों में जमा राशि और 155 लाख रुपये परिवार के नाम पर अचल संपत्ति के रूप में मिले थे, जिसे जब्त कर लिया गया था। इस सिलसिले में प्रधान आयकर निदेशक (अन्वेषण) कार्यालय, पटना द्वारा तलाशी और जब्ती से संबंधित प्रारंभिक जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराया गया था।