Breaking :
||झारखंड निकाय चुनाव में ओबीसी को आरक्षण नहीं देने के मामले में सरकार को सुप्रीम कोर्ट का नोटिस||रांची: ट्रैक्टर व बाराती गाड़ी की भीषण टक्कर में दो की मौत, दो गंभीर रूप से घायल||झारखंड: हाईकोर्ट में पारा शिक्षकों के समायोजन मामले में हुई सुनवाई||हजारीबाग में गैंगेस्टर अमन साहू गिरोह के दो शूटर हथियार के साथ गिरफ्तार, एक पलामू का||पलामू: कुख्यात गैंगेस्टर अमन साहू के गुर्गों ने JMM नेता को दी जान से मारने की धमकी, दो गिरफ्तार, एक लातेहार का||लातेहार: JJMP उग्रवादी की पत्नी से प्रेम संबंध के आरोप में मारे गये ओमप्रकाश यादव के हत्या का आरोपी गिरफ्तार||रांची में स्कूल के गार्ड ने की 11 साल की बच्ची के साथ छेड़छाड़, गिरफ्तार||लातेहार: बालूमाथ में अवैध कोयला लदा हाइवा जब्त, दो गिरफ्तार, जांच जारी||झारखंड के शराब दुकानदारों को मुख्यमंत्री की चेतावनी, कार्यशैली में लायें सुधार, नहीं तो होगी कार्रवाई||लातेहार: चंदवा में नाबालिग का यौन शोषण करने का आरोपी गिरफ्तार, जेल

एएनएम ने गर्भपात कराने के नाम पर मांगे 5 हजार रुपये, नहीं देने पर पेशेंट को दो घंटे अस्पताल में ही रोका

शशि भूषण गुप्ता/बालूमाथ

लातेहार : बालूमाथ थाना क्षेत्र के सेरेगड़ा निवासी नरेश शर्मा ने लातेहार उपायुक्त अबु इमरान को आवेदन देकर बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में कार्यरत एएनएम रीना कुमारी पर गर्भपात कराने के एवज में 5 हजार रुपये मांगने का आरोप लगाया है।

आवेदन में कहां है कि चिकित्सकों के सलाह पर मैं अपनी बेटी का गर्भपात कराने बालूमाथ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचा। जहां ड्यूटी पर तैनात एएनएम रीना कुमारी प्रसव रूम के अंदर ले गई और अधूरा गर्भपात करने के बाद बाहर आकर कर बोली कि 5000 हजार रुपये दोगे तो पूरा करूंगी अन्यथा छोड़ दूँगी।

आनन-फानन में नरेश शर्मा ने 2 हजार रुपये एएनएम को दिया एवं 1 हजार रुपये और देने की आरजू विनती की।

गर्भपात कराने के बाद एएनएम ने मानवता को शर्मसार करते हुए 1 हजार रुपये की और मांग की। पैसा नहीं देने के एवज में पेशेंट को 2 घंटे अस्पताल में ही रोके रखा।

नरेश शर्मा इसकी शिकायत उपायुक्त को लिखित रूप से कर दी उपायुक्त के निर्देश पर जिला परिवहन पदाधिकारी संतोष कुमार सिंह ने संज्ञान लेते हुए बालूमाथ प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अशोक ओड़िया को जांच कर अभिलंब जांच प्रतिवेदन सौंपने को कहा है।

इस संबंध में एएनएम रीना कुमारी ने कहा कि मुझे पेसेंट स्वेच्छा से 500 रुपये दिया था। मैंने पैसे की कोई मांग नहीं की।

वही प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अशोक ओड़िया ने कहा कि जब मैं जांच करने पहुंचा तो मरीज अस्पताल से जा चुका था।

वहीं जिला परिवहन पदाधिकारी संतोष कुमार सिंह ने कहा कि जांच रिपोर्ट आने के बाद दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *