Breaking :
||लातेहार: मनिका में सड़क निर्माण स्थल पर उग्रवादियों का हमला, JCB मशीन में लगायी आग||वेतन नहीं मिलने से नहीं हुआ बेहतर इलाज, गढ़वा में DRDA कर्मी की मौत||लातेहार: हेरहंज में पेड़ से गिरकर युवक की मौत, परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल||लातेहार: सड़क दुर्घटना में घायल महिला की इलाज के दौरान मौत, मुआवजे की मांग को लेकर सड़क जाम||लातेहार: महुआडांड में आदिवासी महिला से दुष्कर्म के बाद बनाया वीडियो, वायरल करने व जान से मारने की धमकी||लातेहार: चंदवा पुलिस ने अभिजीत पावर प्लांट से लोहा चोरी कर ले जा रहे पिकअप को पकड़ा, एक गिरफ्तार||लातेहार: महुआडांड़ में बस और बाइक की जोरदार टक्कर में दो युवकों की मौत, एक गंभीर, देखें तस्वीरें||पलामू: मनरेगा कार्य में लापरवाही बरतने के आरोप में दो जेई सेवामुक्त, एक पर कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश||हेमंत सरकार पर जमकर बरसे अमित शाह, उखाड़ फेंकने का आह्वान||NDA प्रत्याशी सुनीता चौधरी ने किया नामांकन, बोले सुदेश हेमंत सरकार में व्याप्त भ्रष्टाचार, झूठ और वादों को तोड़ने के मुद्दे पर होगा चुनाव

परीक्षा में फेल होने पर गुस्साए छात्रों ने शिक्षक व क्लर्क को पेड़ से बांधकर पीटा, वीडियो वायरल

दुमका : गोपीकंदर थाना क्षेत्र के अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय का एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा सकता है कि कुछ स्कूली बच्चे कुछ लोगों को पेड़ से बांधे हुए हैं। पुलिस ने कहा कि वीडियो में बंधे लोग स्कूल के शिक्षक और क्लर्क हैं। बच्चों ने उन्हें बांधकर पीटा। बच्चों का आरोप है कि स्कूल के शिक्षक ने उन्हें प्रैक्टिकल में कम अंक दिए हैं।

गोपीकंदर थाना क्षेत्र के शासकीय अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय के नौवीं कक्षा के 11 छात्रों ने परीक्षा में डीडी ग्रेड प्राप्त किया है। डीडी ग्रेड को फेल के बराबर माना जाता है। पुलिस ने बताया कि नतीजे आने के बाद अनुत्तीर्ण बच्चों ने गुस्सा किया और शिक्षक को पेड़ से बांध दिया।

स्कूल प्रशासन ने अभी तक कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। गोपीकंदर थाने के थाना प्रभारी नित्यानंद भोक्ता ने पीटीआई-भाषा को बताया कि पुलिस को घटना की सूचना मिलते ही पुलिस ने स्कूल प्रशासन से संपर्क किया। स्कूल के शिक्षकों ने कोई शिकायत करने से इनकार कर दिया।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

स्कूल के शिक्षकों का कहना है कि वे शिकायत कर किसी भी बच्चे का भविष्य खराब नहीं करना चाहते। पुलिस ने बताया कि बंधे हुए शिक्षक का नाम सुमन कुमार और क्लर्क का नाम सोनाराम है। अभी तक शिक्षक और क्लर्क दोनों ने कोई शिकायत नहीं की है।

गोपीकंदर प्रखंड बीडीओ अनंत झा ने बताया कि स्कूल में करीब 200 बच्चे हैं। शिक्षकों को बांधने की घटना में लगभग अधिकांश बच्चे शामिल हैं। बीडीओ ने बताया कि जिस शिक्षक को बांधकर पीटा गया वह पहले विद्यालय का प्रधानाध्यापक था। उन्हें उस पद से हटा दिया गया था।

स्कूल में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए नौवीं और दसवीं कक्षा को निलंबित कर दिया गया है। बच्चों का आरोप है कि उसके शिक्षक ने जानबूझकर उन्हें कम अंक दिए। उन्होंने क्लर्क को इसलिए बांध दिया क्योंकि क्लर्क ने उनके कम नंबर ऑनलाइन अपलोड कर दिए।

स्कूल प्रबंधन बच्चों के प्रैक्टिकल का नंबर दिखाने में नाकाम रहा। प्रबंधन बच्चों के नंबर अपलोड करने की तारीख भी नहीं बता सका। अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि बच्चे थ्योरी में फेल हुए हैं या प्रैक्टिकल में।