Breaking :
||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज||पलामू: संदिग्ध हालत में स्कूल में फंदे से लटका मिला प्रधानाध्यापक का शव, हत्या की आशंका||लातेहार: तालाब में डूबे बच्चे का 24 घंटे बाद भी नहीं मिला शव, तलाश के लिए पहुंची NDRF की टीम||मुख्यमंत्री चंपाई सोरेन ने आलमगीर आलम से लिए सभी विभाग वापस||पलामू: कोयला से भरा ट्रक और बीड़ी पत्ता लदा ऑटो जब्त, पांच गिरफ्तार, दो लातेहार के निवासी||लातेहार: नहाने के दौरान तालाब में डूबने से दस वर्षीय बच्चे की मौत, शव की तलाश में जुटे ग्रामीण
Thursday, June 13, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू की महिला विधायक पर सार्वजनिक मंच पर हेमंत सोरेन की टिपण्णी से भाजपा में आक्रोश, कहा- महिलाओं का सम्मान करना भूल गये हैं मुख्यमंत्री

पलामू : मेदिनीनगर के पुलिस स्टेडियम में आयोजित ‘आपकी योजना, आपकी सरकार, आपके द्वार’ कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन। छतरपुर से भाजपा विधायक पुष्पा देवी को लेकर राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के ‘चुपके-चुपके बंद कमरे में मिलने’ वाले बयान पर भाजपा में आक्रोश है। भाजपा ने इसे महिलाओं का अपमान बताते हुए मुख्यमंत्री पर जमकर हमला बोला।

शनिवार को भाजपा के जिला कार्यालय में जिलाध्यक्ष विजयानंद पाठक एवं छतरपुर विधायक पुष्पा देवी ने संयुक्त रूप से प्रेस वार्ता को संबोधित किया। विधायक पुष्पा ने कहा कि सीएम का बयान अशोभनीय और अपमानजनक है। एक जिम्मेदार और प्रतिष्ठित पद पर बैठकर ऐसा बयान देना महिलाओं का अपमान दर्शाता है।’ छतरपुर विधानसभा क्षेत्र की समस्या को लेकर उनसे मिलने के लिए दिनदहाड़े सर्किट हाउस में मुलाकात की थी। मांग पत्र सौंपा गया। स्थानीय समस्याओं को लेकर कोई विधायक मुख्यमंत्री और प्रधानमंत्री से नहीं मिलेगा तो किससे मिलेगा?

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

विधायक ने कहा कि अगर मुख्यमंत्री को लगता है कि वह किसी विपक्षी विधायक का काम नहीं करना चाहते या उनसे मिलना नहीं चाहते और सिर्फ उनका अपमान करना चाहते हैं तो उन्हें लिखित में देना चाहिए। विपक्ष का कोई भी विधायक उनसे मिलने की कोशिश नहीं करेगा लेकिन अगर वह सार्वजनिक मंच पर अशोभनीय टिप्पणी करेंगे तो यह बेहतर नहीं होगा। अनपढ़ ऐसी बयानबाजी नहीं करते हैं, आप पढ़े-लिखे हैं और सीएम पद को सुशोभित कर रहे हैं।

छतरपुर विधायक पर तंज कसने के मामले में भाजपा जिला अध्यक्ष विजयानंद पाठक ने कड़ी आपत्ति जतायी और कहा कि मुख्यमंत्री महिलाओं का सम्मान करना भूल गये हैं। हाल ही में लोहरदगा जिले में भी महिलाओं के बारे में अपमानजनक बातें कही गयी थीं। मेदिनीनगर के कार्यक्रम में भी छतरपुर विधायक को लेकर दिया गया बयान महिलाओं के सम्मान के खिलाफ है। एक जनप्रतिनिधि होने के नाते विधायक पुष्पा देवी सक्रिय होकर अपनी मांगों को लेकर सर्किट हाउस में मुख्यमंत्री से मिलने गयी थीं, लेकिन मुख्यमंत्री ने इस मुद्दे को कार्यक्रम में रखकर विधायक का मजाक उड़ाया। मुख्यमंत्री को अपने बयान के लिए विधायक पुष्पा देवी से माफी मांगनी चाहिए।

इस मौके पर भाजपा नेता और पूर्व सांसद मनोज कुमार, उदय शुक्ला समेत कई पार्टी नेता और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

BJP Palamu Latest News