Breaking :
||तैयारी में जुटे छात्र ध्यान दें: झारखंड कर्मचारी चयन आयोग ने एक दर्जन प्रतियोगी परीक्षाओं के विज्ञापन किये रद्द||झारखंड में मैट्रिक और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं की तिथि घोषित, जानिये…||लातेहार: अज्ञात अपराधियों ने नावागढ़ गांव में की गोलीबारी, पुलिस कर रही जांच||धनबाद आशीर्वाद टावर अग्निकांड: दीये की लौ ने लिया शोला का रूप, 10 महिलाओं समेत 16 ज़िंदा जले||31 जनवरी से सात फरवरी तक आम लोगों के लिए खुला राजभवन गार्डन||हेमंत ने जमशेदपुर वासियों को दी सौगात, जुगसलाई ओवरब्रिज का किया उद्घाटन||जमशेदपुर-कोलकाता विमान सेवा का शुभारंभ, मुख्यमंत्री ने कहा- सभी जिलों को हवाई सेवा से जोड़ने की तैयार की जा रही कार्ययोजना||पलामू में हल्का कर्मचारी रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार||पाकुड़: मूर्ति विसर्जन के दौरान असामाजिक तत्वों ने जुलूस पर किया पथराव||हजारीबाग: पुआल में लगी आग, दो मासूम बच्चे जिंदा जले, पुलिस जांच में जुटी

PLFI के नाम पर मैगी फैक्ट्री के मालिक से 2 करोड़ की रंगदारी मांगने के आरोप में 4 गिरफ्तार

रांची : पुलिस ने उग्रवादी संगठन पीएलएफआई के एरिया कमांडर राजेश गोप के नाम पर राजधानी के तुपुदाना क्षेत्र में मैगी फैक्ट्री के मालिक से दो करोड़ की रंगदारी मांगने के मामले का खुलासा करते हुए चार लोगों को गिरफ्तार किया है।

रांची की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

गिरफ्तार आरोपियों में शिवशंकर केसरी, तस्लीम अंसारी, सुहैल अंसारी और मंजूर आलम शामिल हैं। सभी आरोपी नगड़ी थाना क्षेत्र के रहने वाले हैं। गिरफ्तार आरोपियों ने फैक्ट्री के अंदर पीएलएफआई के नाम पर उड़ाने की धमकी वाला एक पर्चा फेंक दिया था, जिसके बाद उन्होंने फोन कर मालिक से रंगदारी की मांग की थी। पुलिस ने आरोपियों के पास से एक डिजायर, एक मोटरसाइकिल, एक पीएलएफआई का पैम्फलेट और कई अन्य सामान भी बरामद किया है।

प्रेस वार्ता में एसएसपी किशोर कौशल ने बताया कि दो दिन पूर्व हुई घटना के बाद मामले का खुलासा करने व आरोपित की गिरफ्तारी को लेकर तुपुदाना थाने में प्राथमिकी दर्ज कर हटिया डीएसपी के नेतृत्व में टीम गठित की गयी।

झारखण्ड की ताज़ा ख़बरों के लिए यहाँ क्लिक करें

शिवशंकर केसरी, तस्लीम अंसारी और मंजूर आलम को टीम ने उस वक्त गिरफ्तार किया जब तीनों आरोपी फैक्ट्री मालिक से रंगदारी वसूलने नगड़ी नयासराय पहुंचे थे। इनकी निशानदेही पर ही सुहैल अंसारी को उसके घर से गिरफ्तार कर लिया गया।

उन्होंने बताया कि शिवशंकर केसरी, तस्लीम अंसारी और मंजूर आलम का आपराधिक इतिहास रहा है। तीनों के खिलाफ नगड़ी, रातू और एससी एसटी थाने में करीब आधा दर्जन मामले दर्ज हैं।