Breaking :
||गुमला में लूटपाट करने आये चार अपराधी हथियार के साथ गिरफ्तार||रांची में वाहन चेकिंग के दौरान भारी मात्रा में कैश बरामद||लोहरदगा में धारदार हथियार से गला रेतकर महिला की हत्या||पलामू समेत झारखंड के इन चार लोकसभा सीटों के लिए 18 से शुरू होगा नामांकन, प्रत्याशी गर्मी की तपिश में बहा रहे पसीना||रामनवमी के दौरान माहौल बिगाड़ने वाले आपत्तिजनक पोस्ट पर झारखंड पुलिस की पैनी नजर, गाइडलाइन जारी||झारखंड: प्रचार करने पहुंचीं भाजपा प्रत्याशी गीता कोड़ा का विरोध, भाजपा और झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच झड़प||झारखंड में 20 अप्रैल को जारी होगा मैट्रिक परीक्षा का रिजल्ट||कुर्मी को आदिवासी सूची में शामिल करने की मांग से आदिवासी समाज में आक्रोश, आंदोलन की चेतावनी||लातेहार: सुरक्षा व्यवस्था को लेकर डीसी ने रामनवमी जुलूस निकालने वाले मार्गों का किया निरीक्षण||पलामू: तेज रफ़्तार कार और बाइक की टक्कर में युवक की मौत
Monday, April 15, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

विधायक अंबा के आवास से 35 लाख कैश समेत अन्य दस्तावेज बरामद, विधायक ने कहा- नकदी बरामद होने की बात महज अफवाह

रांची : प्रवर्तन निदेशालय( ईडी) ने जबरन वसूली, लेवी की वसूली, अवैध बालू खनन और जमीन पर कब्जा करने को लेकर कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद और उनसे जुड़े लोगों के 20 ठिकाने पर छापा मारा था।

ईडी ने गुरुवार को प्रेस विज्ञप्ति जारी कर बताया कि योगेंद्र साव, उनके परिवार के सदस्यों और उनके सहयोगियों के खिलाफ आईपीसी, 1860, शस्त्र अधिनियम, 1959 की विभिन्न धाराओं के तहत झारखंड पुलिस के जरिये दर्ज 15 से अधिक एफआईआर के आधार पर ईडी ने यह जांच शुरू की। प्राथमिकी में आरोप है कि योगेन्द्र साव, अंबा प्रसाद अपने सहयोगियों के साथ विभिन्न प्रकार की आपराधिक गतिविधियों जैसे जबरन वसूली, लेवी की वसूली, अवैध रेत खनन, भूमि पर कब्जा आदि में शामिल हैं, जिसके परिणामस्वरूप उन्होंने अपराध से आय अर्जित की है।

तलाशी अभियान के दौरान 35 लाख रुपये, डिजिटल उपकरण, सर्किल कार्यालयों, बैंकों आदि के नकली टिकट और हाथ से लिखी रसीदें, डायरियां आदि के रूप में विभिन्न आपत्तिजनक दस्तावेज बरामद और जब्त किये गये हैं। तलाशी के दौरान झारखंड राज्य में अवैध बालू खनन से जुड़े साक्ष्य भी जब्त किये गये हैं। ऐसी आपराधिक गतिविधियों से उत्पन्न अपराध की आय को नकद में अर्जित करने और बाद में आगे की व्यावसायिक गतिविधियों और कई अंचल संपत्तियों की खरीद के लिए उपयोग किये जाने की पहचान की गयी है। मामले में आगे की जांच जारी है।

ईडी प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की कार्रवाई के बाद गुरुवार को बड़कागांव की कांग्रेस विधायक अंबा प्रसाद ने हजारीबाग के हुड़हुड़ु स्थित आवास पर पत्रकार वार्ता कर अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि उनके आवास से कुछ भी ईडी के अधिकारियों को बरामद नहीं हुआ है। नकदी बरामद होने की बात महज अफवाह है। अंबा ने ईडी की कार्रवाई पर कहा कि उनका परिवार इस वक्त मानसिक प्रताड़ना का शिकार हुआ है।

अंबा ने कहा कि विधानसभा से जो गाड़ी फाइनेंस किया गया है वही गाड़ी सिर्फ उनके नाम पर रजिस्टर्ड है। इसके अलावा कहीं भी कुछ भी उनके नाम से जमीन जायदाद नहीं है। साथ ही कहा कि ईडी केंद्रीय एजेंसी है। हम उन्हें जांच में हर प्रकार से सहयोग करेंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि ईडी की कार्रवाई में उनकी एक बहन जो मुंबई में रहकर स्नातक की पढ़ाई कर रही है और किराये के मकान में रहती है उसे भी प्रताड़ित किया गया। साथ ही कहा कि उनका परिवार राजनीतिक परिवार से आता है। इसलिए साजिश के तहत बदनाम करने के लिए ईडी की कार्रवाई की जा रही है।

अंचल अधिकारी के साथ संबंधों पर कहा कि हमारा संबंध किसी भी भ्रष्ट अधिकारी के साथ नहीं है। हम लगातार मुखर होकर भ्रष्टाचार के खिलाफ जनता की आवाज बनने का काम किये हैं। इसलिए हमारा नाम किसी भ्रष्ट अधिकारी के साथ ना जोड़ा जाये। दस्तावेज बरामद होने को लेकर कहा कि ईडी हमारे आवास से जो भी अपने साथ लेकर गयी है वह जनता से जुड़ी हुई फाइलें हैं।

ED Raid MLA Amba