Breaking :
||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर 62.13 फीसदी वोटिंग, सबसे अधिक जमशेदपुर, सबसे कम रांची में मतदान||झारखंड में कल से दिखेगा चक्रवाती तूफान ‘रेमल’ का असर, लातेहार, गढ़वा, पलामू व चतरा जिले में भी असर||लातेहार: दुकान में चोरी करने आये तीन चोर आग में झुलसे, एक की मौत, दो गंभीर||झारखंड की चार लोकसभा सीटों पर वोटिंग कल, 82 लाख मतदाता करेंगे 93 उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला||पलामू: तत्कालीन एसपी के फर्जी हस्ताक्षर से बने 12 चरित्र प्रमाण पत्र, बड़ा गिरोह सक्रिय||ED की टीम फिर पहुंची आलमगीर आलम के पीएस संजीव लाल के नौकर जहांगीर के घर||झारखंड: ज्वैलर्स शोरूम से दो लाख रुपये नकद समेत 50 लाख के आभूषण की लूट||निशिकांत दुबे के खिलाफ चुनाव आयोग से शिकायत||लातेहार: चुनाव कार्य में लापरवाही बरतने वाले 9 कर्मियों पर प्राथमिकी दर्ज||बंगाल की खाड़ी में बन रहे लो प्रेशर का झारखंड में असर, ऑरेंज अलर्ट जारी, झमाझम बारिश से लोगों को गर्मी से मिली राहत
Sunday, May 26, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों की होगी नियुक्ति, विभाग ने शुरू की तैयारी

रांची : झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी। माध्यमिक विद्यालयों के अलावा प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों की भी बहाली होगी। जिन प्राथमिक विद्यालयों में 150 से अधिक बच्चे नामांकित हैं, वहां प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी। ऐसे विद्यालयों सहित उन्नत माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के पद सृजित किए जाएंगे। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

प्रदेश में करीब 22 हजार प्राइमरी स्कूल और 13 हजार मिडिल स्कूल हैं। प्रदेश के 3296 माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद सृजित हैं, जिनमें से केवल 82 प्रधानाध्यापक कार्यरत हैं, शेष रिक्त हैं. वहीं, करीब 9,729 प्राथमिक विद्यालयों का उन्नयन किया गया। इनमें प्राचार्य का पद सृजित होना बाकी है। इन स्कूलों में सबसे पहले प्रधानाध्यापकों का पद सृजित किया जाएगा।

सरकार ने पिछले महीने से इन अपग्रेडेड स्कूलों में शिक्षकों के तीन-तीन पद यानी कुल 29,175 पद सृजित किए थे। इन स्कूलों में विज्ञान और गणित के 9729 पद, सामाजिक अध्ययन के 9729 पद और भाषा के 9717 पद सृजित किए गए हैं। इन पदों पर भर्ती दो चरणों में की जाएगी। पहले चरण में 14996 और दूसरे चरण में 14,179 पदों पर भर्ती की जाएगी।

150 नामांकन वाले राज्य के प्राथमिक विद्यालयों में अभी भी प्रधानाध्यापक नहीं हैं। यहां विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक प्रधानाध्यापक के रूप में कार्य करते हैं। अब इन स्कूलों में भी हेडमास्टर देने की तैयारी है। जिन प्राथमिक विद्यालयों में 150 से अधिक बच्चे हैं, वहां प्रधानाध्यापक का पद सृजित किया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने जिलों से रिपोर्ट मांगी है।

विभाग इस बात की जानकारी जुटा रहा है कि कितने स्कूलों में 150 से कम और 150 से ज्यादा छात्र नामांकित हैं। इसी के आधार पर पद सृजित किया जाएगा। शिक्षा विभाग के अनुसार सभी स्कूलों में प्रधानाध्यापक का पद सृजित किया जाएगा। जब 150 से अधिक नामांकन हों तो उनमें भी प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जा सकती है।