Breaking :
||पलामू: ट्रैक्टर की चपेट में आने से बाइक सवार इंटर के परीक्षार्थी की मौत||पलामू DAV के बच्चों की बस बिहार में पलटी, दर्जनों छात्र घायल||पलामू: पिछले 13 माह में सड़क दुर्घटना में 225 लोगों की मौत पर उपायुक्त ने जतायी चिंता||सदन की कार्यवाही सोमवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित||JSSC परीक्षा में गड़बड़ी मामले की CBI जांच कराने की मांग को लेकर विधानसभा गेट पर भाजपा विधायकों का प्रदर्शन||लातेहार: 10 लाख के इनामी JJMP जोनल कमांडर मनोहर और एरिया कमांडर दीपक ने किया सरेंडर||युवक ने थाने की हाजत में लगायी फां*सी, परिजनों ने लगाया हत्या का आरोप||लातेहार में 23 फ़रवरी को लगेगा रोजगार मेला, विभिन्न पदों पर होगी बंम्पर भर्ती||अब सात मार्च तक न्यायिक हिरासत में रहेंगे पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन||पलामू में 16 वर्षीय किशोर का मिला शव, हत्या की आशंका, सड़क जाम
Saturday, February 24, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों की होगी नियुक्ति, विभाग ने शुरू की तैयारी

रांची : झारखंड के प्राथमिक विद्यालयों में 30 हजार प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी। माध्यमिक विद्यालयों के अलावा प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों की भी बहाली होगी। जिन प्राथमिक विद्यालयों में 150 से अधिक बच्चे नामांकित हैं, वहां प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जाएगी। ऐसे विद्यालयों सहित उन्नत माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापकों के पद सृजित किए जाएंगे। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इसकी तैयारी शुरू कर दी है।

प्रदेश में करीब 22 हजार प्राइमरी स्कूल और 13 हजार मिडिल स्कूल हैं। प्रदेश के 3296 माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के पद सृजित हैं, जिनमें से केवल 82 प्रधानाध्यापक कार्यरत हैं, शेष रिक्त हैं. वहीं, करीब 9,729 प्राथमिक विद्यालयों का उन्नयन किया गया। इनमें प्राचार्य का पद सृजित होना बाकी है। इन स्कूलों में सबसे पहले प्रधानाध्यापकों का पद सृजित किया जाएगा।

सरकार ने पिछले महीने से इन अपग्रेडेड स्कूलों में शिक्षकों के तीन-तीन पद यानी कुल 29,175 पद सृजित किए थे। इन स्कूलों में विज्ञान और गणित के 9729 पद, सामाजिक अध्ययन के 9729 पद और भाषा के 9717 पद सृजित किए गए हैं। इन पदों पर भर्ती दो चरणों में की जाएगी। पहले चरण में 14996 और दूसरे चरण में 14,179 पदों पर भर्ती की जाएगी।

150 नामांकन वाले राज्य के प्राथमिक विद्यालयों में अभी भी प्रधानाध्यापक नहीं हैं। यहां विद्यालय के वरिष्ठ शिक्षक प्रधानाध्यापक के रूप में कार्य करते हैं। अब इन स्कूलों में भी हेडमास्टर देने की तैयारी है। जिन प्राथमिक विद्यालयों में 150 से अधिक बच्चे हैं, वहां प्रधानाध्यापक का पद सृजित किया जाएगा। इसके लिए शिक्षा विभाग ने जिलों से रिपोर्ट मांगी है।

विभाग इस बात की जानकारी जुटा रहा है कि कितने स्कूलों में 150 से कम और 150 से ज्यादा छात्र नामांकित हैं। इसी के आधार पर पद सृजित किया जाएगा। शिक्षा विभाग के अनुसार सभी स्कूलों में प्रधानाध्यापक का पद सृजित किया जाएगा। जब 150 से अधिक नामांकन हों तो उनमें भी प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति की जा सकती है।