Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरदेश-विदेशराष्ट्रीय

बड़ी खबर: छत्तीसगढ़ में नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में CRPF के 3 जवान शहीद, 14 जवान घायल

बीजापुर/सुकमा/रायपुर : बीजापुर-सुकमा सीमा पर जोनागुड़ा और अलीगुड़ा के पास मंगलवार को नक्सली हमले में सीआरपीएफ के तीन जवान शहीद हो गये। गोलीबारी में घायल 14 जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी. ने मुठभेड़ की पुष्टि की है।

जिस इलाके में मंगलवार को नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर हमला किया, वहां 2021 में 23 जवानों की जान चली गयी थी। नक्सली गतिविधि पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से सुकमा और बीजापुर जिले के सीमावर्ती क्षेत्र (थाना जगरगुंडा, जिला सुकमा) पर ग्राम टेकलगुडेम में सुरक्षा शिविर स्थापित किया गया है। यहां से आज दोपहर कोबरा, एसटीएफ और डीआरजी के जवान जोनागुड़ा-अलीगुड़ा इलाके में सर्चिंग के लिए निकले थे। इसी दौरान नक्सलियों ने जवानों पर फायरिंग शुरू कर दी।

सुरक्षा बलों की जवाबी फायरिंग में नक्सली भाग गये। पुलिस सूत्रों के मुताबिक हमले में 3 जवानों के शहीद होने की खबर है। मुठभेड़ में 14 जवान घायल हो गये हैं। गंभीर रूप से घायल जवानों को रायपुर भेजने की तैयारी चल रही है।

पुलिस महानिरीक्षक बस्तर रेंज सुंदरराज पी. के मुताबिक बस्तर पुलिस और तैनात सुरक्षा बल क्षेत्र के लोगों को नक्सल समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। वर्ष 2021 में टेकलगुडेम मुठभेड़ में हमें हुई भारी क्षति के बावजूद, जनहित को ध्यान में रखते हुए, आज हम एक बार फिर टेकलगुडेम गांव में एक शिविर स्थापित करेंगे और क्षेत्र की शांति, सुरक्षा और विकास के लिए समर्पित होकर काम करेंगे।

Chhattisgarh Naxal Attack News