Breaking :
||झारखंड में पांचवें चरण का चुनाव शांतिपूर्ण संपन्न, आचार संहिता उल्लंघन के सात मामले दर्ज||लातेहार में शांतिपूर्ण माहौल में मतदान संपन्न, 65.24 फीसदी वोटिंग||झारखंड में गर्मी से मिलेगी राहत, गरज के साथ बारिश के आसार, येलो अलर्ट जारी||चतरा, हजारीबाग और कोडरमा संसदीय क्षेत्र में मतदान कल, 58,34,618 मतदाता करेंगे 54 प्रत्याशियों के भाग्य का फैसला||चतरा लोकसभा: भाजपा और कांग्रेस के बीच सीधी टक्कर, फैसला जनता के हाथ||भाजपा की मोटरसाइकिल रैली पर पथराव, कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट, कई घायल||झारखंड की तीन लोकसभा सीटों पर चुनाव प्रचार थमा, 20 मई को वोटिंग||पिता के हत्यारे बेटे की निशानदेही पर हत्या में प्रयुक्त बंदूक बरामद समेत पलामू की तीन ख़बरें||चतरा लोकसभा क्षेत्र के नक्सल प्रभावित इलाके में नौ बूथों का स्थान बदला, जानिये||झारखंड हाई कोर्ट में 20 मई से ग्रीष्मकालीन अवकाश
Tuesday, May 21, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामू प्रमंडललातेहार

लातेहार: सामूहिक दुष्कर्म के तीन आरोपियों को 25 साल की कैद और जुर्माना

लातेहार : जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वितीय सह पॉक्सो एक्ट की विशेष अदालत अमित कुमार ने चर्चित लोटो ग्राम गैंग रेप मामले में तीन आरोपियों को 25-25 साल की सजा का एलान किया है।

पॉक्सो एक्ट के विशेष लोक अभियोजक अशोक कुमार दास के अनुसार लातेहार सदर थाना क्षेत्र के लोटो गांव में 29 फरवरी 2020 को एक घटना घटी थी, जिसमें अपराधियों ने एक किशोरी को बाइक पर बैठा कर खेत में ले गये। वहां उसके साथ जबरन सामूहिक दुष्कर्म किया। लातेहार थाना कांड संख्या 41/2020 /1 मार्च 2020 आईपीसी धारा 342 376 डी 6 पोक्सो एक्ट एवं एससी एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर मामले की जांच की गयी।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

पुलिस ने मामले को सत्य पाते हुए 26 अप्रैल 2020 को अदालत में जितेंद्र राम उर्फ छोटू चंद्रवंशी, अभय प्रजापति उर्फ लालू, करण प्रजापति उर्फ करण विद्यार्थी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 341 342 376 डी एवं 4 6 8 पॉक्सो एक्ट के तहत आरोप पत्र समर्पित किया।

अभियोजन पक्ष की ओर से कुल 11 गवाह अदालत में पेश किये गये। गवाहों ने पुष्टि की कि पीड़िता के साथ क्या हुआ। दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद श्री कुमार की अदालत ने आरोपियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 376 डी के तहत आरोप साबित होने पर 25-25 साल की कैद और 25,000 रुपये जुर्माने की सजा सुनायी। आपको बता दें कि यह मामला साल 2020 के चर्चित मामलों में से एक था।

Latehar Latest News Today