Breaking :
||बंद औद्योगिक इकाइयों को पुनर्जीवित करेगी राज्य सरकार : मुख्यमंत्री||आर्थिक तंगी के कारण कोई भी छात्र उच्च एवं तकनीकी शिक्षा से न रहे वंचित: मुख्यमंत्री||झारखंड में मानसून की आहट, भारी बारिश का अलर्ट जारी||बड़गाईं जमीन घोटाले में ED की बड़ी कार्रवाई, जमीन कारोबारी के ठिकाने से एक करोड़ कैश और गोलियां बरामद||पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के सेक्शन अधिकारी समेत दो रिश्वत लेते गिरफ्तार||सतबरवा में कपड़ा व्यवसायी के बेटे और बेटी के अपहरण का प्रयास विफल, लातेहार की ओर से आये थे अपहरणकर्ता||लातेहार: एनडीपीएस एक्ट के दोषी को 15 वर्ष का कठोर कारावास और 1.5 लाख रुपये का जुर्माना||लातेहार सिविल कोर्ट में आपसी सहमति से प्रेमी युगल ने रचायी शादी||लातेहार: किड्जी प्री स्कूल के बच्चों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर किया योगाभ्यास||किसानों की समृद्धि से राज्य की अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती : मुख्यमंत्री
Saturday, June 22, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरपलामूपलामू प्रमंडल

पलामू, गढ़वा और लातेहार में संगठित गिरोह के 200 अपराधियों की पहचान, 50 शातिर : IG

Palamu organized gang criminals

लातेहार के पांच अपराधियों के विरुद्ध भेजा गया सीसीए का प्रस्ताव

पलामू : पलामू आईजी राजकुमार लकड़ा ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पलामू, गढ़वा और लातेहार में संगठित गिरोह के 200 अपराधियों की पहचान की गयी है, जिनमें से 50 शातिर हैं। इनके खिलाफ दस से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं।

लातेहार, पलामू और गढ़वा की ताज़ा ख़बरों के लिए व्हाट्सप्प ग्रुप ज्वाइन करें

आईजी ने कहा कि एसपी को इन अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया है। आवश्यकतानुसार उन पर सीसीए भी लगाया जायेगा। फिलहाल लातेहार के पांच अपराधियों के खिलाफ सीसीए का प्रस्ताव भेजा गया है । अपराधियों के बारे में भी जानकारी जुटायी जा रही है। अपराधियों की नक्सलियों से भी सांठगांठ है।

Kidzee Latehar
Kidzee Latehar

उन्होंने बताया कि पलामू में डबलू सिंह, सुजीत सिन्हा और लातेहार में अमन साहू और अमन श्रीवास्तव गिरोह सक्रिय हैं। इनसे निपटने के लिए तीनों जिलों में विशेष टीमों का गठन किया गया है। संदिग्धों की पहचान कर उन पर तकनीकी माध्यम से भी नजर रखी जा रही है। तीनों जिलों के एसपी को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया गया है कि कोई भी शातिर अपराधी जेल से बाहर न रहे। उसकी जमानत रद्द कर जेल भेजें। एसडीपीओ के नेतृत्व में विशेष टीम फरार अपराधियों का पता लगा कर कार्रवाई करेगी। राज्य के अन्य जिलों में बंद अपराधियों की कोर्ट में वर्चुअली पेशी होगी। रंगदारी से संबंधित सभी मामलों को गंभीरता से लेने का निर्देश दिया गया है। छोटे-छोटे मामले ही बड़ी घटनाओं का रूप लेते हैं।

Palamu organized gang criminals