Breaking :
||लातेहार: बालूमाथ में अनियंत्रित बाइक दुर्घटनाग्रस्त, दो युवक घायल, सांसद ने पहुंचाया अस्पताल, दोनों रिम्स रेफर||15 ऐसे महत्वपूर्ण कानून और कानूनी अधिकार जो हर भारतीय को जरूर जानने चाहिए||लातेहार में तेज रफ्तार बोलेरो ने घर में सो रहे पांच लोगों को रौंदा, एक की मौत, चार रिम्स रेफर||चतरा: अत्याधुनिक हथियार के साथ TSPC के तीन उग्रवादी गिरफ्तार||लातेहार में बड़ा रेल हादसा, चार यात्रियों की मौत और कई के घायल होने की सूचना||मोदी 3.0: मोदी सरकार में मंत्रियों के बीच हुआ विभागों का बंटवारा, देखें किसे मिला कौन सा मंत्रालय||गढ़वा: प्रेमी ने गला रेतकर की प्रेमिका की हत्या, शादी का बना रही थी दबाव, बिन बयाही बनी थी मां||मैक्लुस्कीगंज में फायरिंग व आगजनी मामले में पांच गिरफ्तार, ऑनलाइन जुआ खेलाने वाले गिरोह का भंडाफोड़, सात गिरफ्तार||पलामू में शैक्षणिक संस्थानों के 100 मीटर के दायरे में 60 दिनों के लिए निषेधाज्ञा लागू, जानिये वजह||पलामू में युवक की गोली मारकर हत्या, पुलिस जांच तेज
Sunday, June 16, 2024
BIG BREAKING - बड़ी खबरझारखंडरांची

ईडी के निशाने पर झारखंड के 17 नेता-विधायक, सभी थे इंजीनियर वीरेन्द्र राम के संपर्क में…

रांची : प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ग्रामीण विकास विभाग के मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम से लगातार पूछताछ कर रहा है। झारखंड के 16-17 नेता-विधायक मुख्य अभियंता वीरेंद्र राम के संपर्क में थे। टेंडर को लेकर सभी उनके संपर्क में थे। इनमें दो महिला विधायक भी शामिल थीं, जिनकी वीरेंद्र राम से लगातार और लंबी बातचीत होती थी। सभी ईडी के निशाने पर हैं।

इसके अलावा और भी कई अन्य वरिष्ठ अधिकारी हैं जो नियमित रूप से टेंडरों के प्रबंधन के लिए वीरेंद्र राम से बात करते थे। जो पांच फीसदी कमीशन नहीं देगा उसे काम नहीं मिलेगा। एक अफसर वीरेंद्र राम को ग्रामीण विकास विभाग के एक ऐसे टेंडर के बारे में निर्देश दिया है। वह ईडी के साथ मौजूद हैं। ईडी ने जांच के दौरान वीरेंद्र राम के फोन को सर्विलांस पर रखकर यह जानकारी जुटायी है।

जांच के दौरान, ईडी ने वीरेंद्र राम और कई अन्य लोगों को निगरानी में रखा था और उनकी फोन पर बातचीत को पकड़ा था। नेता-विधायक वीरेंद्र राम से नियमित बात करते थे। उन्हें अपनी पसंद के ठेकेदारों का पक्ष लेने और अन्य प्रतिभागियों को निविदा प्रक्रिया से बाहर करने और अयोग्य घोषित करने के लिए कहते सुना गया। ईडी वीरेंद्र राम को पुलिस रिमांड में लेकर पूछताछ कर रही है। ईडी ने वीरेंद्र राम को कई ऑडियो भी सुनाये हैं। उनहोंने ईडी को कई लोगों की पहचान भी बतायी है। ईडी ने जांच में पाया है कि वीरेंद्र राम ने कई राजनेताओं और नौकरशाहों की मिलीभगत से टेंडर घोटाले के मास्टरमाइंड के रूप में काम किया।

गौरतलब है कि ईडी ने 22 फरवरी को वीरेंद्र राम के आवास पर छापेमारी की थी। ईडी ने पूछताछ के दौरान देर रात उन्हें रांची स्थित उनके अशोक नगर स्थित आवास से गिरफ्तार किया था। ईडी ने लगातार दो दिनों तक वीरेंद्र राम के 24 ठिकानों पर छापेमारी की, जिसमें 30 लाख कैश और डेढ़ करोड़ से ज्यादा के गहने बरामद किये गये। टेंडर से जुड़े मामले में ईडी उन्हें रिमांड पर लेकर पूछताछ कर रही है।

झारखंड ED इंजीनियर वीरेन्द्र