Breaking :
||चाईबासा: PLFI के तीन उग्रवादी गिरफ्तार, AK-47 समेत अन्य हथियार बरामद||लातेहार में PLFI के दो उग्रवादी हथियार के साथ गिरफ्तार, ठेकेदारों को फोन पर देते थे धमकी||पलामू: JJMP के सब जोनल कमांडर ने किया सरेंडर, खोले कई चौंकाने वाले राज||लातेहार: अनियंत्रित बोलेरो ने खड़े ट्रक में मारी टक्कर, दो युवकों की मौत, चार की हालत नाजुक||हेमंत सरकार का निर्णय, सरकारी कार्यक्रमों में ‘जोहार’ शब्द से अभिवादन करना अनिवार्य||सरकार खतियान आधारित स्थानीयता बिल फिर राज्यपाल को भेजेगी : JMM||राज्य स्तरीय झांकी में पलामू किला को मिला पहला स्थान, राज्यपाल ने किया पुरस्कृत||नहीं रहे ओडिशा के स्वास्थ्य मंत्री नव किशोर दास, इलाज के दौरान तोड़ा दम||दुमका में मूर्ति विसर्जन के दौरान जय श्री राम के नारे बजाने को लेकर दो समुदायों के बीच झड़प||मुख्यमंत्री ने लातेहार के कार्यपालक अभियंता पर अभियोजन चलाने की दी स्वीकृति

Bihar News: प्रेमी की दूसरी लड़की से शादी तय होने पर थाने पहुंची प्रेमिका, पुलिस ने लगवाये सात फेरे

मुजफ्फरपुर : मुजफ्फरपुर पुलिस ने थाने में ही एक प्रेमी जोड़े की शादी करा दी। दरअसल प्रेमी की दूसरी लड़की से शादी तय होने के बाद लड़की अपनी गुहार लेकर मीनापुर थाने की पुलिस के पास पहुंची थी। युवती की गुहार सुनने के बाद थानेदार ने दोनों परिवारों की रजामंदी के बाद थाने में सात फेरे लगवा दिए। पुलिसकर्मियों और दोनों परिवारों के लोगों की मौजूदगी में थाने में ही शादी की सारी रस्में निभाई गयीं। सात जन्म के बंधन में बंधने के बाद दूल्हा खुशी-खुशी अपनी दुल्हन को लेकर अपने घर चला गया।

बताया जा रहा है कि मीनापुर के नेउरा गांव निवासी राजेश और किरण के बीच काफी समय से प्रेम प्रसंग चल रहा था। जब दोनों ने घरवालों के सामने शादी का प्रस्ताव रखा तो घर वालों ने इस रिश्ते से इनकार कर दिया। इसी बीच अविनाश के घरवालों ने उसकी शादी कहीं और तय कर दी। शादी की तारीख भी तय हो गयी थी। किरण को जैसे ही इस बात का पता चला वह अपनी शिकायत लेकर मीनापुर थाने पहुंची।

किरण की गुहार सुनने के बाद थानेदार राजेश कुमार ने अविनाश व किरण के परिजनों को थाने बुलाया। थानेदार के समझाने के बावजूद दोनों परिवारों के लोग शादी के लिए तैयार नहीं हुए, लेकिन बाद में किरण और अविनाश के परिवार वाले इस शादी के लिए राजी हो गए। फिर क्या था थाने के सिपाही इस शादी की तैयारी में लग गए। थाने में ही पंडित को बुलाकर दोनों प्रेमी जोड़े को सात फेरे लगवाए गए। शादी के बाद दोनों प्रेमी जोड़े की खुशी का ठिकाना नहीं रहा।